banner

Blog

Chaitra Navratri 2024: जानें कब से शुरू होंगे चैत्र नवरात्री, नौ दिन की पूजा विधि

Posted On: March 28, 2024

हिंदू धर्म में चैत्र नवरात्रि का बहुत महत्व है। इस त्योहार में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। ऐसा करने से घर में सुख समृद्धि और धन की वर्षा होती है। चैत्र नवरात्रि के साथ ही हिंदू नववर्ष आरंभ होगा। Chaitra Navratri 2024 इस साल मंगलवार 9 अप्रैल से शुरू होगी। हिंदू पंचांग की उदया तिथि के अनुरूप 2024 में 9 अप्रैल से कलश स्थापना के साथ नवरात्रि आरंभ हो जाएगी। देवी दुर्गा ऊर्जा का प्रतीक मानी जाती हैं। चैत्र नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा करने से भक्तों को अपनी इच्छा पूरी करने की प्रेरणा मिलती है।

Chaitra Navratri 2024 में कलश स्थापना की विधि

मां दुर्गा की स्थापना करके, कलश को मंदिर के उत्तर-पूर्व दिशा में रखना चाहिए। स्थापना के लिए 09 अप्रैल को सुबह 06 बजकर 11 मिनट से 10 बजकर 23 मिनट तक का मुहूर्त शुभ है। नवरात्रि में दिनों का कम होना अशुभ माना जाता है और इस साल चैत्र नवरात्रि पूरे नौ दिन तक मनाई जाएगी। ऐसे में मां दुर्गा की पूजा करने से घर में सुख शांति बनी रहेगी।

कलश को स्थापित करने के लिए सबसे पहले गंगा जल से उस स्थान को साफ करना चाहिए। कलश पर नारियल रखकर उसपर लाल रंग का कपड़ा रखना चाहिए। इसके बाद मां दुर्गा की प्रतिमा को चुनरी चढ़ानी चाहिए और अखंड दीपक को जलाना चाहिए जो पूरे नवरात्रि तक जलता रहे। सजावट करने के बाद मां शैलपुत्री का ध्यान करते हुए मंत्रो का जाप करना चाहिए। ध्यान रहे कि माता को लगने वाला भोग शुद्ध घी से बना होना चाहिए।

Chaitra Navratri 2024 में माँ दुर्गा का वाहन

नवरात्रि का पर्व किस दिन से आरंभ होगा इससे मां दुर्गा के वाहन का अनुमान लगाया जाता है। 2024 में चैत्र नवरात्रि, मंगलवार से शुरू हो रही है इसलिए मां दुर्गा का वाहन घोड़ा होगा। शास्त्रों के अनुसार मां दुर्गा का घोड़े पर आना अशुभ माना जाता है। इसे राजनीतिक परिवर्तन का संकेत माना जाता है।

Chaitra Navratri 2024 में माँ दुर्गा के स्वरूप

  1. प्रथम दिन: कलश की स्थापना के साथ ही मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है जो सुख समृद्धि का प्रतीक है।
  2. दूसरा दिन: इस दिन मां दुर्गा के ब्रह्मचारिणी रूप की पूजा की जाती है।
  3. तीसरा दिन: इस दिन माता चंद्रघंटा की पूजा की जाती है। ऐसा करने से सांसारिक समस्याओं से मुक्ति मिलती है।
  4. चौथा दिन: चैत्र नवरात्रि के चौथे दिन माँ कूष्मांडा की पूजा की जाती है। इनकी उपासना करने से सभी प्रकार के रोग-शोक दूर होते हैं।
  5. पांचवा दिन: इस दिन दुर्गा माता के पंचम स्वरूप माता स्कंदमाता की पूजा की जाती है और केले का भोग लगाया जाता है।
  6. छठा दिन: नवरात्रि के छठे दिन माता कात्यायनी की पूजा की जाती है।
  7. सातवां दिन: इस दिन शत्रु का विनाश करने वाली माता कालरात्रि की पूजा होती है।
  8. आठवां दिन: आठवें दिन मां दुर्गा के मां महागौरी रूप की पूजा अर्चना की जाती है।
  9. नवां दिन: चैत्र नवरात्रि का नौवां दिन माता के नौवें स्वरुप माता सिद्धिदात्री को समर्पित किया है, जो अपने भक्तों को हर प्रकार की सिद्धियां देती हैं।

नवरात्रि के नौ दिन इन बातों का विशेषकर रखें ध्यान

  1. नवरात्रि में सफाई का ध्यान रखना चाहिए। सफ़ाई करने से घर में लक्ष्मी जी की कृपा बनी रहती है।
  2. नौ दिन तक नाखुन, बाल नहीं काटने चाहिए। ऐसा करना अशुभ माना जाता है।
  3. इस समय घर में सात्विक भोजन ही बनना चाहिए और घर में लहसुन और प्याज वाला भोजन नहीं बनना चाहिए।
  4. नवरात्रि में अखंड दीपक जलते रहना चाहिए जिसकी ज्योत पूरे नौ दिनों तक लगातार जलती रहे।
  5. नवरात्रि में दिन में सोना अच्छा नहीं माना जाता है। घर में नौ दिन पूजा करनी चाहिए और मंदिरो के दर्शन करने चाहिए।
  6. इस त्योहार में अगर नौ दिनों का व्रत रख रहे हैं तो घर में दाल और अनाज नहीं बनना चाहिए।

चैत्र नवरात्री 2024 की सम्पूर्ण जानकारी के लिए देखें यह वीडियो:

निष्कर्ष

हिंदू धर्म में नवरात्रि का त्योहार बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। हर साल मनाई जाने वाली चार नवरात्रि में से एक चैत्र नवरात्रि, दो गुप्त नवरात्रि और एक शारदीय नवरात्रि होती है। इस त्योहार में मां दुर्गा की पूजा करने से भक्तों को सुख समृद्धि का अनुभव होता है। परिवार में चल रही समस्याएं दूर होती हैं। नौ दिन के इस शुभ त्योहार में व्रत रखना शुभ माना जाता है जिसमें भक्तों को सात्विक जीवन जीने की सलाह दी जाती है।


अपनी कुंडली या उससे संबंधित जानकारी के लिए Jyotish Ratan Kendra से संपर्क करें।

JYOTISH RATAN KENDRA

>> Mob No.: +91-8527749889, 9971198835

>> WhatsApp: +91-8527749889

हमारे पास वास्तविक रुद्राक्ष और जेमस्टोन की विस्तृत रेंज है। हम अपने ग्राहकों को उच्चतम गुणवत्ता के उत्पाद और उत्कृष्ट ग्राहक सेवा प्रदान करने पर गर्व करते हैं। हमारी अन्य सेवाओं में यंत्र और कवचऑनलाइन पूजाकुंडली विश्लेषण (जन्म कुंडली तैयार करना और परामर्श), वास्तु ज्योतिषरत्न और रुद्राक्ष शामिल हैं।

Celebrities Reviews & Testimonials

Share this:

For Horoscope/Kundli Consultation, Please Call us or WhatsApp Us at: +91-8527749889